Cryptocurrency क्या है 2024? इसे क्यों बनाया गया और इसमें खरीद बेच कैसे करें?

crypto kya hai

क्रिप्टोक्यूरेंसी एक डिजिटल या आभासी(virtual) मुद्रा(Currency) है जो सुरक्षा के लिए क्रिप्टोग्राफी का उपयोग करती है और एक केंद्रीय बैंक या सरकार से स्वतंत्र(independently) रूप से संचालित होती है मतलब की गवर्नमेंट का इस पर कोई कण्ट्रोल नहीं है। क्रिप्टोकरेंसी लेन-देन रिकॉर्ड करने और नई इकाइयों को जारी करने का प्रबंधन करने के लिए ब्लॉकचेन(Blockchain) का उपयोग किया जाता है।

क्रिप्टोकरेंसी आमतौर पर माइनिंग के माध्यम से बनाई जाती हैं, जहां शक्तिशाली कंप्यूटर लेन-देन की जांच करने और रिकॉर्ड करने के लिए जटिल(Complex) गणितीय समस्याओं को हल करते हैं। इस प्रक्रिया(process) के लिए महत्वपूर्ण मात्रा(amount) में कंप्यूटिंग शक्ति और ऊर्जा की खपत होती है।

कुछ सबसे लोकप्रिय क्रिप्टोकरेंसी में बिटकॉइन, एथेरियम, BNB और रिपल(XRP) शामिल हैं।

Cryptocurrency क्यों बनाई गई?

क्रिप्टोकरेंसी को मुद्रा और भुगतान के रूप में बनाया गया था जो लेनदेन को Verified करने और processed करने के लिए सरकारों या वित्तीय संस्थानों के भरोसे नहीं रहे।

क्रिप्टोक्यूरेंसी के पीछे का विचार लोगों को Middlemen(बिचौलिया) की आवश्यकता के बिना एक दूसरे के साथ सीधे लेनदेन करने के लिए Decentralized और सुरक्षित तरीका प्रदान करना है। इसका उपयोग करके, क्रिप्टोकरेंसी लेनदेन की सुरक्षा और गोपनीयता रखने के साथ-साथ धोखाधड़ी और जालसाजी को रोकने में सक्षम हैं।

क्रिप्टोकरेंसी लोगों को सरकारी निगरानी या Censorship के बारे में चिंता किए बिना स्वतंत्र रूप से लेन-देन करने की अनुमति देती है। कुल मिलाकर, क्रिप्टोकरेंसी का निर्माण अधिक वित्तीय स्वतंत्रता, सुरक्षा और गोपनीयता के लिए हैं।

Decentralized(विकेंद्रीकरण) क्या होता है?

Decentralization एक ऐसी प्रणाली या संगठन को बताता है जिसमें कोई एक मुख्य अधिकारी नहीं होता है। इसके निर्णय लेने और नियंत्रण करने की जिम्मेदारी कई व्यक्तियों के बीच वितरित होती है।

आप डिसेंट्रलाइज्ड प्लेटफार्म का प्रयोग करते हैं तो वहां पर आपका पैसा सुरक्षित रहता है और उसे कोई भी हैक नहीं कर पाता है क्योंकि इसका किसी के पास कंट्रोल नहीं होता है यह स्वतंत्र है|

Cryptocurrency कैसे काम करती है?

क्रिप्टोक्यूरेंसी एक डिसेंट्रलाइज्ड प्रणाली के माध्यम से संचालित होती है जिसे सरकार या वित्तीय संस्थान जैसे सेंट्रल अथॉरिटी के बजाय कंप्यूटर के नेटवर्क द्वारा मैनेज किया जाता है।

Cryptocurrency का प्रयोग कई तरीके से किया जाता है जैसे :-

  1. Blockchain 

ब्लॉकचेन जिसे लेन-देन के एक सार्वजनिक बहीखाता पर रिकॉर्ड किया जाता है जिसे ब्लॉकचेन कहा जाता है, जो एक डिसेंट्रलाइज्ड डेटाबेस है जिसे कंप्यूटर के नेटवर्क द्वारा बनाए रखा जाता है। ब्लॉकचेन पर प्रत्येक ब्लॉक में पिछले ब्लॉक का एक क्रिप्टोग्राफ़िक हैश होता है, जो लेन-देन की एक Fixed और Secure-Chain बनाता है।

Blockchain क्या है?

ब्लॉकचेन एक डिजिटल लेजर है जिसमें सूची के रूप में ट्रांजैक्शन रिकॉर्ड किए जाते हैं। यह एक decentralized System होता है, जो कि कंप्यूटर नेटवर्क के माध्यम से काम करता है। इस System में न तो कोई एक सेंट्रल अथॉरिटी होती है और न ही कोई सेंट्रल डेटाबेस होता है।

ब्लॉकचेन एक बहुत ही सुरक्षित system है जिसे क्रिप्टोग्राफी का उपयोग करके सुरक्षित बनाया जाता है। यह उन ट्रांजैक्शन को सुरक्षित रखता है जो इस पर किए जाते हैं और यह उन्हें खोने से रोकता है। ब्लॉकचेन नेटवर्क में उपलब्ध सभी ब्लॉक लिंक्ड होते हैं जो एक डेटाबेस की तरह काम करते हैं।

इसका का प्रयोग क्रिप्टोकरेंसी जैसे bitcoin की सुरक्षित व्यवस्था को बनाए रखने के लिए किया जाता है।

  1. Transactions

क्रिप्टोक्यूरेंसी लेनदेन दो पक्षों के बीच एक डिजिटल वॉलेट के माध्यम से किया जाता है, जिसे सार्वजनिक(public) और private key का उपयोग करके एक्सेस किया जा सकता है। 

जब लेन-देन शुरू किया जाता है, तो यह उन कंप्यूटरों के नेटवर्क पर reveal होता है जो ब्लॉकचेन बनाते हैं, और प्रत्येक कंप्यूटर Complex algorithm का उपयोग करके लेनदेन को verify करते है।

  1. Mining

लेन-देन को valid करने और उन्हें ब्लॉकचैन में जोड़ने के लिए, नेटवर्क पर कंप्यूटर mining एक प्रोसेस के माध्यम से complex mathematical समस्याओं को हल करने के लिए कंपटीशन करते हैं।

Mining क्या है?

Cryptocurrency Mining एक Process है जिसमें क्रिप्टोकरेंसी नेटवर्क को सुरक्षित रखने वाले लोगों द्वारा क्रिप्टोकरेंसी ट्रांजैक्शन को Verified करने के लिए कंप्यूटर system का उपयोग किया जाता है। इस प्रक्रिया में, समस्त क्रिप्टोकरेंसी ट्रांजैक्शन के Description/Details को सुरक्षित ब्लॉक में stored किया जाता हैं।

Miner को एक निश्चित मात्रा में क्रिप्टोकरेंसी के रूप में ट्रांजैक्शन के confirmation के लिए जोड़ा जाता है। जब माइनर इन ट्रांजैक्शन को verify करता है तो उसको एक निश्चित मात्रा में क्रिप्टोकरेंसी के रूप में reward दिया जाता है।

जैसे बिटकॉइन का ट्रांजैक्शन करते है तो वहां पर transaction फीस लगती है तो वह फीस माइनर को दिया जाता है जो आपके ट्रांजैक्शन को करवाने में मदद करता है।

  1. Security

क्रिप्टोकरेंसी लेन-देन की सुरक्षा सुनिश्चित करने और धोखाधड़ी को रोकने के लिए Advanced Cryptographic टेक्नोलॉजी का उपयोग किया जाता है। लेन-देन को कंप्यूटर के नेटवर्क द्वारा encrypt और Verified किया जाता है, जिससे लेन-देन को बदलना या बनाना लगभग असंभव हो जाता है।

Cryptocurrency कैसे खरीदें?

क्रिप्टोक्यूरेंसी खरीदने के लिए यहां कुछ simple step दिए गए हैं:-

क्रिप्टोक्यूरेंसी खरीदने के लिए कई एक्सचेंज उपलब्ध हैं, जिनमें से प्रत्येक के अपने condition हैं। 

Cryptocurrency खरीदने के लिए अच्छे एक्सचेंज(App)

यहां कुछ लोकप्रिय क्रिप्टोक्यूरेंसी एक्सचेंज हैं जिन पर आप विचार कर सकते हैं:-

Coinbase: कॉइनबेस लोकप्रिय क्रिप्टोक्यूरेंसी एक्सचेंजों में से एक है, जो 100 से अधिक देशों में उपलब्ध है। यह बिटकॉइन, एथेरियम, लाइटकॉइन और कई अन्य क्रिप्टोकरेंसी की खरीद और बिक्री का समर्थन करता है।

Binance: Binance एक बड़ा और अच्छे तरह से स्थापित क्रिप्टोक्यूरेंसी एक्सचेंज है जो बिटकॉइन, एथेरियम, लिटकोइन और कई अन्य तरह की ट्रेडिंग के जाना जाता है। यह अपनी कम फीस और advanced ट्रेडिंग सुविधाओं के लिए भी जाना जाता है।

क्रिप्टोक्यूरेंसी एक्सचेंज पर खाता बनाने की प्रक्रिया यहाँ है:-

Create an account: एक्सचेंज चुनने के बाद, आपको एक इसमें खाता बनाना होगा। इसमें आमतौर पर आपकी व्यक्तिगत जानकारी, जैसे आपका नाम, पता और फोन नंबर शामिल है। आपको सरकार द्वारा जारी आईडी को सत्यापित करने की भी आवश्यकता होगी।

Add funds: क्रिप्टोक्यूरेंसी खरीदने के लिए, आपको अपने एक्सचेंज wallet में Fund जमा करना होगा। यह आमतौर पर बैंक, क्रेडिट कार्ड या UPI के माध्यम से किया जा सकता है।

Choose your cryptocurrency: एक बार जब आप अपने खाते में Fund जोड़ लेते हैं, तो आप चुन सकते हैं कि आप कौन सी क्रिप्टोकरेंसी खरीदना चाहते हैं। सबसे लोकप्रिय क्रिप्टोकरेंसी बिटकॉइन, एथेरियम हैं। एक बार जब आप क्रिप्टोक्यूरेंसी खरीद लेते हैं, तो इसे एक सुरक्षित डिजिटल वॉलेट में स्टोर करना महत्वपूर्ण होता है।

क्या भारत में Cryptocurrency Legal है?

भारत में क्रिप्टोकरेंसी की कानूनी स्थिति हाल के वर्षों में अनिश्चितता का विषय रही है। अप्रैल 2018 में, भारतीय रिज़र्व बैंक (RBI) ने सभी regulated financial संस्थानों को क्रिप्टोकरेंसी से निपटने से प्रतिबंधित कर दिया था, बैंकों को क्रिप्टोक्यूरेंसी एक्सचेंजों और व्यापारियों को सेवाएं प्रदान करने से प्रभावी रूप से प्रतिबंधित कर दिया था। 

इस प्रतिबंध को सर्वोच्च न्यायालय(Supreme Court) में चुनौती दी गई थी, जिसने अंततः मार्च 2020 में प्रतिबंध हटा लिया। प्रतिबंध हटाने के बाद, भारत सरकार ने क्रिप्टोकरेंसी एंड रेगुलेशन ऑफ ऑफिशियल डिजिटल करेंसी बिल, 2021 में एक बिल प्रस्तावित किया, जो भारत में क्रिप्टोकरेंसी के लिए एक कानूनी ढांचा तैयार करना चाहता है।

हालाँकि, फरवरी 2023 तक, कानून में बिल पारित नहीं हुआ है, और भारत में क्रिप्टोकरेंसी की कानूनी स्थिति कुछ doubtful बनी हुई है। यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि स्थिति लगातार विकसित हो रही है, और कानूनों और regulations में किसी भी बदलाव के साथ up to date रहना महत्वपूर्ण है।

निष्कर्ष 

  • क्रिप्टोक्यूरेंसी एक डिजिटल संपत्ति है जिसे लेनदेन को सुरक्षित करने और नई इकाइयों के निर्माण को controlled करने के लिए क्रिप्टोग्राफी का उपयोग करते हैं जिसे एक्सचेंज के रूप में संचालित करने के लिए डिज़ाइन किया गया है।
  • Cryptocurrency decentralized है, जिसका अर्थ है कि यह एक Central authority या Mediator के बिना संचालित होता है, और transaction को ब्लॉकचेन के द्वारा किया जाता है, जो एक transparent और सुरक्षित डिजिटल record book है। 
  • सबसे प्रसिद्ध क्रिप्टोक्यूरेंसी bitcoin है, लेकिन अब व्यापार और निवेश के लिए हजारों अलग-अलग क्रिप्टोकरेंसी उपलब्ध हैं। 
  • क्रिप्टोक्यूरेंसी बाजार अस्थिर(volatile) है तो कोई भी निवेश निर्णय लेने से पहले जोखिमों और लाभों को सावधानी से समझना महत्वपूर्ण है। 
  • कुल मिलाकर, क्रिप्टोक्यूरेंसी में financial industry में क्रांति लाने की क्षमता है और इसका भविष्य उज्जवल है।  

यह भी पढ़े: शेयर मार्केट क्या है?

About The Author

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top