Option Greeks क्या हैं? ऑप्शन ट्रेडिंग में कैसे होता है उपयोग

ऑप्शन से पैसे कमाने के लिए, आपको कुछ महत्वपूर्ण चीजों को समझना जरूरी होता है। ऑप्शन ग्रीक्स (Option Greeks) एक बहुत महत्वपूर्ण विषय है, जिसे हर ऑप्शन ट्रेडर को समझना चाहिए। इस पोस्ट को पूरा पढ़ने के बाद आपको पूरी तरह से ऑप्शन ग्रीक्स के बारे में समझ आ जाएगा, यह मेरा वादा है।

ऑप्शन ग्रीक्स क्या हैं?

Option Greeks ऐसे ग्रीक हैं जो ऑप्शन की price पर प्रभाव डालते हैं, यानी वे बताते हैं कि ऑप्शन प्रीमियम की कीमत में कैसे परिवर्तन होते हैं। इनमें से डेल्टा, थीटा, गामा, और वेगा जैसे option greeks यह तय करते हैं कि ऑप्शन की मूल्य कितना बढ़ेगा या गिरेगा, Selected स्ट्राइक प्राइस के हिसाब से।

ऑप्शन ग्रीक्स कुल मिलाकर चार प्रकार के होते हैं – डेल्टा(delta), थीटा(theta), गामा(gama), और वेगा(vega). और यहां एक और ग्रीक है, ये सभी मिलकर कॉल और पुट ऑप्शन के प्रीमियम को निरंतर ऊपर और नीचे ले जाने में मदद करते हैं।

डेल्टा, थीटा, गामा, और वेगा – ऑप्शन ग्रीक्स क्या हैं?

Option GreekDescription
थीटा (Theta)यह बताता है कि एक्सपायरी में बचा समय पर प्रीमियम के मूल्य में बदलाव कितना होगा।
डेल्टा (Delta)यह बताता है कि ऑप्शन प्रीमियम के मूल्य किस दर से ऊपर नीचे होंगे, यानी ऑप्शन के मूल्य में होने वाले बदलाव को दर्शाता है।
गामा (Gamma)यह सिर्फ डेल्टा में होने वाले बदलाव को बताता है।
वेगा (Vega)यह मार्केट की वोलैटिलिटी के आधार पर प्रीमियम के मूल्य में बदलाव को दर्शाता है।
Option Greeks

मैं समझता हूँ कि ऑप्शन ग्रीक्स को समझने के लिए नए लोगों को थोड़ी मुश्किल हो सकती है, लेकिन एक बार जब आप इस आर्टिकल को पूरा पढ़ लोगे तो ऑप्शन ग्रीक्स बहुत ही सरल लगने लगेगा।

Theta Decay क्या और कैसे होता है?

थीटा का मतलब होता है ‘समय मूल्य(time price)’ या ‘समय की कमी’। हर ऑप्शन के लिए अपना विशेष ऑप्शन ग्रीक्स होता है, लेकिन सबसे महत्वपूर्ण ग्रीक्स में से एक होता है ‘थीटा’।

आपको पता है कि हम ऑप्शन्स को खरीदने या बेचने का विचार करते हैं तो वह थीटा होता है, वह ऑप्शन खरीदने वाले के लिए हानिकारक होता है, लेकिन ऑप्शन बेचने वाले के लिए फायदेमंद होता है, यानी ‘थीटा’ ऑप्शन सेलर(option seller) के पक्ष में होता है।

इसका मतलब है कि ऑप्शन Seller के लिए ‘थीटा’ सकारात्मक(+ve) होता है, जबकि ऑप्शन खरीदने वाले के लिए यह हानिकारक(-ve) होता है। क्योंकि समय बीतने के साथ, निफ्टी में कोई मूवमेंट नहीं होती, तो ऑप्शन खरीदने वाले का प्रीमियम समय के साथ धीरे-धीरे कम होता जाता है, भले ही निफ्टी वहीं पर बनी रहे।

Theta Decay से कैसे होता है Option Seller को फायदा 

यह एक तरह की योजना होती है जिसमें ऑप्शन विक्रेता द्वारा एक प्रीमियम वसूला जाता है। उदाहरण जैसे कि आप अपने दोस्त से पैसे उधार लेते हैं और शर्त रखते हैं कि कुछ दिनों बाद पैसे के साथ ब्याज भी चुकाया जाएगा।

इसी तरह, ऑप्शन विक्रेता भी ‘थीटा’ के रूप में आपसे एक प्रीमियम का भुगतान करते हैं, जिसका मतलब होता है कि वह पैसे लेते हैं ऑप्शन प्रीमियम की कीमत कम करके।

चाहे मार्केट में कोई मूवमेंट नहीं हो, लेकिन वह प्रीमियम जिसमें आपका पैसा है, उसका मूल्य घटता रहता है, जिसका अर्थ होता है कि जो प्रीमियम आपके पास है, वह एक तरह से ब्याज के रूप में घटता रहता है, और ऑप्शन खरीदने वाले को उसका भुगतना पड़ता है।

Delta क्या होता है – ऑप्शन ग्रीक्स

डेल्टा आपको बताता है कि किसी Index(nifty, bank nifty) के मुकाबले उसके ऑप्शन के प्रीमियम की मूल्य में कितना बदलाव हो सकता है, जब हम किसी निफ्टी या बैंक निफ्टी जैसे underlying asset के साथ काम करते हैं। 

डेल्टा की वैल्यू 0 से 1 के बीच होती है, और यह ATM (At The Money), ITM (In The Money), और OTM (Out of The Money) पर अलग-अलग होती है।

यदि डेल्टा की वैल्यू 1 हो, तो यह दिखाता है कि ऑप्शन का प्रीमियम पूरी तरह से underlying asset(nifty, bank nifty) के मूल्य के साथ मेल खाता है। अगर यह 0 हो, तो ऑप्शन का प्रीमियम किसी भी मूल्य पर बदलाव नहीं करता है।

डेल्टा एक महत्वपूर्ण greek है जो हमें यह समझने में मदद करता है कि एक ऑप्शन के मूल्य में किस प्रकार के बदलाव हो सकते हैं।

गामा(GAMMA) क्या होता है – ऑप्शन ग्रीक्स

जब डेल्टा की दर बार-बार बदलती है, कभी 0.5 से गुजरती है तो कभी 0.2 से, और कभी 1 से, तो इस तरह के बदलाव को हम गामा (Gamma) के रूप में प्रकट करते हैं।

इसका मतलब गामा का काम डेल्टा में किस प्रकार के बदलाव होने का संकेत देना हैं, जब हम underlying asset के मूल्य में परिवर्तन करते हैं।

वेगा(Vega) क्या होता है – ऑप्शन ग्रीक्स

मार्केट की वोलैटिलिटी, यानी बाजार में मूल्यों के तेज बदलाव के कारण, प्रीमियम की कीमतों में होने वाले Changes को हम वेगा (Vega) कहते हैं।

वेगा एक महत्वपूर्ण ऑप्शन ग्रीक है जो हमें यह बताता है कि अगर बाजार की वोलैटिलिटी बढ़ती है या कम होती है, तो ऑप्शन के प्रीमियम की कीमत कैसे प्रभावित होगी।

निष्कर्ष 

Option Greeks एक महत्वपूर्ण टॉपिक है जो ऑप्शन ट्रेडिंग के प्रत्येक व्यक्ति को समझना चाहिए। डेल्टा, थीटा, गामा, और वेगा यह सब बातें trader को बताती हैं कि ऑप्शन के मूल्य में किस प्रकार के बदलाव हो सकते हैं। 

मुझे आशा है कि मैंने Option Greeks आपको अच्छे से समझाने की कोशिश की अगर मेरी कोशिश सफल रही हो तो कृपया करके कमेंट सेक्शन में एक प्यारा सा कमेंट जरूर लिखें धन्यवाद। 

FAQ’s

  1. ऑप्शन ग्रीक्स क्या हैं और ऑप्शन ट्रेडिंग में इनका महत्व क्या है?
  • ऑप्शन ग्रीक्स, जिनमें डेल्टा, थीटा, गामा, और वेगा शामिल है, यह प्रीमियम के price पर प्रभाव डालने वाले महत्वपूर्ण Factor हैं।
  1. Theta Decay क्यों होता है?
  • Theta Decay या टाइम Decay एक ऑप्शन के प्रीमियम की price कम होने का process है जो time के साथ होता है, यह एक तरीके से समय का ब्याज होता है।

About The Author

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top